हम आपको अपनी वेबसाइट पर यथासंभव सबसे अच्छा अनुभव देने के लिए कुकीज़ का इस्तेमाल करते हैं। इस साइट को ब्राउज करना जारी रख कर, आप कुकीज का इस्तेमाल किए जाने की सहमति देते हैं। अपनी वरीयताओं को संसोधित करने के तरीके सहित, अधिक विवरण के लिए, कृपया हमारे निम्नलिखित दस्तावेज पढ़ें गोपनीयता नीति।
अधिक जानकारी स्वीकार करें

Future contract में ट्रेडिंग - एक सविस्तार गाइड

अप्रैल 24, 2020 15:02 UTC
Reading time: 18 मिनट

Futures trading के बारे में तो अपने सुना ही होगा। Future contract दुनिया के वित्तीय बाज़ारों का एक अवियोज्य हिस्सा है। लेकिन क्या आप जानते हैं what is future contract? या what is futures trading?

यह लेख इसी के बारे में है। इस लेख में हम इन विषयों का चर्चा करेंगे:

  • Future contract meaning
  • Futures trading example
  • फुचुरस और सीऍफ़डी में अंतर
  • फुचुरस कारोबार बनाम सीएफडी के फायदे और नुकसान
  • Investing in futures for beginners
  • और भी बहुत कुछ!

पढ़ने का आनंद लीजिये!

Futures trading

What is future contract

वायदा बाजार की शुरुआत कमोडिटीज उद्योग में हुई थी। किसान, खनिक और तेल उत्पादक भविष्य में अपने उत्पाद के लिए मिलने वाले मूल्य को नहीं जानने के जोखिम का प्रबंधन करना चाहते थे। वहां से वायदा अनुबंध (future contract) का जन्म हुआ। वायदा अनुबंध का विक्रेता भविष्य में किसी विशेष दिन एक निश्चित वस्तु की निश्चित मात्रा को बेचने के लिए सहमत होते हैं, और एक खरीददार ढूंढते थे जो अनुबंध खरीदना चाहते थे। क्यूंकि इस अनुबंध में दो पक्ष मौजूद होते हैं, इसी लिए कोई भी अनुबंध की कीमत खरीदारों से मांग के साथ-साथ अन्य विक्रेताओं से आपूर्ति पर निर्भर करेगी।

इसी तरह, वायदा अनुबंध का खरीदार अनुबंध की समाप्ति तिथि पर विक्रेता से अंतर्निहित वस्तु खरीदने के लिए एक निश्चित मूल्य पर सहमत होगा। उदाहरण के लिए, एडमिरल मार्केट्स के साथ आप वस्तुओं और अन्य समान उत्पादों पर सीएफडी का व्यापार कर सकते हैं।

एक हाथो हाथ वायदा अनुबंध एक मूल्य पर किसी भी परिसंपत्ति की भविष्य की बिक्री के लिए अनुबंध है। यदि वायदा लेनदेन एक मानकीकृत ढांचे के भीतर, स्टॉक एक्सचेंज पर होता है, और यह दैनिक आधार पर व्यवस्थित होता है, तो तब यह हाथो हाथ नहीं होगा, बल्कि एक एक्सचेंज-ट्रेडेड वायदा लेनदेन होगा।

दुनिया में कई बड़े एक्सचेंज है जहाँ इसका ट्रेडिंग होता है। उनमेसे सबसे लोकप्रिय कुछ है:

  • शिकागो मर्केंटाइल एक्सचेंज
  • शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड
  • न्यूयॉर्क मर्केंटाइल एक्सचेंज
  • यूरेक्स
  • NASDAC
  • और अन्य

What is futures trading - एक छोटा इतिहास

पहला वायदा अनुबंध 1851 में तैयार किया गया था। संपत्ति मक्का थी और शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड (CBOT) में हस्ताक्षरित की गई थी। यह एक निश्चित मूल्य पर नकदी के लिए उत्पाद के भविष्य के आदान-प्रदान के लिए विक्रेता (एक किसान) और खरीदार (एक औद्योगिक कंपनी) के लिए योजना थी।

तब से, वायदा कारोबार ने बाजारों, खरीदारों और विक्रेताओं को आकर्षित किया है।

यद्यपि वायदा बाजार संस्थागत व्यापारियों के पसंदीदा परिदृश्यों में से एक के रूप में शुरू हुआ था, लेकिन इसने सट्टेबाज के आंकड़े को भी जन्म दिया। इससेकिसी को दिए गए बाजार के भविष्य में सही दिशा चुनने से लाभ होता है।

लेकिन प्रौद्योगिकी और कंप्यूटरों के विकास के साथ, कई व्यापारियों ने सीऍफ़डी (या कॉन्ट्रैक्ट्स फॉर डिफरेंस) के माध्यम से वायदा बाजारों का व्यापार करना चुना।

Commodities

Trading in futures कैसे करें

अब तक, हम जानते हैं कि एक फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट एक उत्पाद को खरीदने या प्राप्त करने के लिए एक अनुबंध है, जैसे कि कमोडिटीज या मुद्राएं, एक सहमत भविष्य की तारीख और कीमत पर। लेकिन वास्तव में यह बातचीत कैसे होती है?

वायदा एक्सचेंजों पर फुचुरस का कारोबार किया जाता है जहां सभी अनुबंध मानकीकृत होते हैं। मूल रूप से, इसका मतलब है कि प्रत्येक अनुबंध का एक ही विनिर्देश है, चाहे कोई भी खरीद या बिक्री कर रहा हो। अनुबंध आमतौर पर गुणवत्ता, मात्रा और निपटान तिथियों के संदर्भ में मानकीकृत होते हैं।

चलिए एक futures trading example के द्वारा इसको देखते है।

न्यूयॉर्क मर्केंटाइल एक्सचेंज में तेल अनुबंध करने वाले सभी लोग जानते हैं कि एक अनुबंध में गुणवत्ता के एक विशेष स्तर पर वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (WTI) तेल के 1,000 बैरल शामिल होंगे।

अधिकांश वायदा अनुबंध पांच वर्ण कोड के साथ आते हैं:

• पहले दो अक्षर उत्पाद की पहचान करते हैं

• तीसरा अक्षर महीने की पहचान करता है

• अंतिम दो वर्ष की पहचान करते हैं।

उदाहरण के लिए, WTI का एक अनुबंध CLX20 दिखा सकता है। इसमें CL = क्रूड ऑयल, X = नवंबर (महीनों और अक्षरों का कुछ निश्चित कोड है जो वेबसाइट पर दिखाई देता है जहां विनिमय किया जाता है) और 20 = वर्ष 2020।

यह याद रखें के investing futures के कुछ नकारात्मक पक्ष भी है। जैसे के वायदा की स्थिति की एक निश्चित समाप्ति तिथि है (जैसा कि हम इस लेख में बाद में उजागर करेंगे)। इसके अलावा, आप अनुबंध का आकार नहीं बदल सकते हैं, जो अक्सर काफी बड़ा हो सकता है।

तेल के futures trading example में, एक अनुबंध 1,000 बैरल तेल के बराबर है। आप कम के साथ काम नहीं कर सकते, जिसके कारन निवेश निधि काफी बड़ा हो सकता है।

इस बड़ा अनुबंध आकर के कारन कुछ वायदा और इंट्राडे व्यापारी वायदा के बजाय सीएफडी में निवेश करते हैं। कभी कभी यह व्यापारी का सीएफडी में व्यापार करने का एक बुनियादी पहलू हो सकता है। इसके बारे में हम आगे चर्चा करेंगे।

सीएफडी क्या हैं? - investing futures

ऊपर हमने सीऍफ़डी के बारे में उल्लेख की है। तो आइये देखें के सीएफडी क्या है? सीएफडी एक व्युत्पन्न उत्पाद है जो एक व्यापारी को एक बाजार के उत्थान और पतन पर अटकल लगाने की अनुमति देता है। वे मूल रूप से लंदन में 1990 के दशक में यूबीएस वारबर्ग में दो निवेश बैंकरों द्वारा विकसित किए गए थे।

मूल रूप से, सीएफडी दो पक्षों के बीच एक अनुबंध है - खरीदार और विक्रेता। यह निर्धारित किया जाता है कि विक्रेता खरीदार को एक बाजार के मौजूदा मूल्य और अनुबंध समाप्त होने पर मूल्य के बीच अंतर का भुगतान करेगा, जिसकी कोई निश्चित ख़तम होने की तारीख नहीं है।

तो सीऍफ़डी या वायदा कारोबार के बीच का अंतर यह है कि सीऍफ़डी के साथ विक्रेता आमतौर पर आपका ब्रोकर होता है, और वायदा के साथ आप एक वास्तविक खरीदार या उस उत्पाद के विक्रेता के साथ सीधे व्यापार करते हैं जिसका आप व्यापार कर रहे हैं।

सीएफडी के साथ, व्यापारी अंतर्निहित बाजार के उद्घाटन और समापन मूल्य के बीच अंतर का भुगतान करता है।

अगर आप सीऍफ़डी के बारे में अधिक जानना चाहते हैं, तो हमारे CFD trading क्या है? CFDs के बारे में विस्तृत में जानकारी लेख ज़रूर पड़ें।

हालांकि वायदा और सीएफडी ट्रेडिंग समान लग सकते हैं, कुछ अंतर हैं।

सीएफडी और फ्यूचर्स ट्रेडिंग के बीच अंतर

फुचुरस ट्रेडिंग

सीऍफ़डी ट्रेडिंग

समाप्ति तारीख (मासिक, त्रैमासिक)

आमतौर पर कोई समाप्ति तारीख नहीं होती है

एक एक्सचेंज के माध्यम से व्यापार (CBOT, CME, NYMEX)

एक प्रतिपक्ष (आपके दलाल) के माध्यम से व्यापार

उत्पाद का कोई स्वामित्व नहीं

उत्पाद का कोई स्वामित्व नहीं

लॉन्ग और शार्ट ट्रेड हो सकता है

लॉन्ग और शार्ट ट्रेड हो सकता है

मार्जिन पर ट्रेड होता है

मार्जिन पर ट्रेड होता है

सीएफडी की तुलना में कम बाजार उपलब्ध हैं

3,000 से अधिक बाजारों में व्यापार कर सकते हैं

Futures trading के फायदे और नुकसान

अब जब हमने future contract meaning और सीएफडी क्या है जान लिया है, आइये इनके ट्रेडिंग का फायदे और नुकसान पर एक नज़र डालते हैं। वायदा कारोबार और सीएफडी के कई फायदे और नुकसान हैं जो व्यक्तिगत व्यापारी की परिस्थितियों पर निर्भर करेगा। यहाँ हम कुछ महत्वपूर्ण बातों पर प्रकाश डालेंगे।

Investing futures बनाम सीएफडी का लाभ

  • कीमत की कुल पारदर्शिता: फ्यूचर्स का शिकागो मर्केंटाइल एक्सचेंज जैसे सार्वजनिक एक्सचेंजों पर खुले तौर पर कारोबार किया जाता है। चूंकि संस्थागत निवेशक और वाणिज्यिक कंपनियां अक्सर उन्हें खरीदती और बेचती हैं, कीमतें अंतर्निहित बाजार को बारीकी से दर्शाती हैं।

सीएफडी के साथ, मूल्य की गणना अंतर्निहित वायदा बाजार से की जाती है और फिर ब्रोकर के कमीशन को स्थान देने के लिए समायोजित किया जाता है। ये तरल बाजारों में छोटे हो सकते हैं, लेकिन अधिक विदेशी बाजारों में उच्चतर होते हैं जो अक्सर संचालित नहीं होते हैं।

  • उच्च स्तर के व्यापारियों के लिए लाभदायक: Future contract के लिए कमीशन बड़े बाजारों में काफी कम है। यह बचत की लागत के कारण बड़ी मात्रा में व्यापारियों के लिए आदर्श बनाता है।

हालांकि, जैसा कि आप नीचे देखेंगे, वायदा कारोबार और सीएफडी के बीच मतभेदों में से एक यह है कि पूर्व को बाद की तुलना में अधिक प्रारंभिक पूंजी की आवश्यकता होती है।

Futures trading India बनाम सीएफडी का नुकसान

  • बहुत बड़े अनुबंध का आकार: वायदा कारोबार करके, आप किसी उत्पाद या माल की एक निश्चित मात्रा के साथ एक अनुबंध खरीद रहे हैं। ये मात्राएँ मानकीकृत हैं।

सोने का प्रति अनुबंध 100 औंस के आकार में कारोबार होता है और एक बिंदु की हर गतिविधि $ 100 के बराबर होती है। इसका मतलब है कि यदि आपने केवल एक अनुबंध खरीदा (यह वायदा बाजार में अनुबंध खरीदने का सबसे कम मात्रा है), तो एक दस डॉलर की चाल से 1000 अमरीकी डालर का नुकसान हो सकता है। सोना अस्थिर है और एक दिन में दस डॉलर से ज्यादा चल सकता है।

हालांकि, वायदा कारोबार के विपरीत, सीएफडी के साथ आप अपने जोखिम प्रबंधन के अनुरूप अपने अनुबंध के आकार को समायोजित कर सकते हैं।

• समाप्ति की तिथियां: हर वायदा अनुबंध की एक समाप्ति तिथि होती है। इसका मतलब है कि अनुबंध का मूल्य समाप्ति तिथि के करीब मिट जाता है। इसका अर्थ यह भी है कि यदि आप अधिक समय तक व्यापार में बने रहना चाहते हैं, तो ऐसा करना संभव नहीं है।

वायदा के विपरीत, सीएफडी के साथ कोई समाप्ति तिथि नहीं है, जो एक व्यापारी के लिए महान लचीलापन प्रदान करता है जो अपनी स्थिति को छोड़ना चाहता है।

• कम बाजार उपलब्ध: जबकि वायदा के लिए बाजारों की एक अच्छी श्रृंखला उपलब्ध है, यह ट्रेडिंग सीएफडी के लिए उपलब्ध बाजारों की मात्रा की तुलना में कुछ भी नहीं है।

Live trading

Features of future contract

समाप्ति या रोलओवर: वायदा अनुबंध एक दिन समाप्त होता है - और एहि फुचुरस और स्टॉक के बीच की मूल अंतर है।

जैसे ही तारीख करीब आती है, या तो अनुबंध ख़तम हो जाता है, या नवीकरण हो जाता है। इस प्रक्रिया को "रोलओवर" कहा जाता है, जब अनुबंध में नवीकरण होता है। यदि आप भविष्य के अनुबंध को नवीनीकृत नहीं करते हैं, तो आप व्यापार करते हैं और स्थिति में रहते हैं (ताकि इसका हमेशा इस भविष्य में अनुबंध हो)। यह जानना महत्वपूर्ण है की यह स्वचालित रूप से हटा दिया जाता है ।

आपके अनुबंध का नकद निपटान: अधिकांश वायदा अनुबंधों में यह होता है। कल्पना करें कि DAX वायदा अनुबंध में आपकी वर्तमान स्थिति है और यह परिपक्वता पर पुनर्निवेश की संभावना नहीं देता है। अनुबंध का मूल्य बाजार मूल्य पर होगा और परिणाम आपके खाते में जमा या शुल्क लिया जाएगा।

Features of future contract - बिंदु मान

Future contract को उसी तरह से ट्रेड किया जाता है जैसे कि सीऍफ़डी। उनका प्राइस रीडिंग, एनालिसिस की प्रक्रिया और डिसीजन मेकिंग समान होते हैं।

हालाँकि, DAX 30 पर सीऍफ़डी की तुलना में DAX 30 वायदा में बिंदु मान काफी अधिक होगा।

वर्तमान में, एडमिरल मार्केट्स में DAX30 सीऍफ़डी का बिंदु मूल्य € 1 है, जिसमें न्यूनतम अनुबंध मूल्य € 0.10 है। अंतर को DAX 30 के भविष्य के मूल्य के साथ तुलना करके सराहना की जाती है जो € 25 है।

Futures point value

Futures trading basics - मिनी फुचुरस

फुचुरस मिनी अनुबंध क्या है? यह मूल भविष्य के अनुबंध का एक व्युत्पन्न है। इससे आप वायदा पर सट्टा लगा सकते हैं, लेकिन कम जोखिम के साथ।

DAX फुचुरस प्रति प्वाइंट 25 यूरो की प्रवेश कीमत है, इससे यह अधिकांश व्यापारियों के लिए दुर्गम हो जाता है।

इस लिए आप DAX पर मिनी वायदा अनुबंध पे ट्रेडिंग कर सकते हैं, जिसका मूल्य प्रति बिंदु 5 यूरो है। हालांकि, नकारात्मक पक्ष यह है कि इस उपकरण की तरलता कम है।

वायदा बनाम सीएफडी - trading in futures के लिए उपलब्ध बाजार

वायदा कारोबार करते समय, पहले उपलब्ध बाजार कमोडिटी वायदा और तेल वायदा थे। वर्तमान में, मुद्रा, बिटकॉइन और सूचकांक फ्यूचर्स के साथ-साथ ऑप्शंस विकल्प भी व्यापार कर रहे हैं।

ये सभी बाजार वायदा और सीएफडी ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध हैं।

कुछ बाजार ऐसे हैं जो सिर्फ वायदा बाजार में नहीं दिखते हैं। उदाहरण के लिए, स्टॉक को शेयर बाजार में सूचीबद्ध किया जाता है, लेकिन इसे सीऍफ़डी के रूप में भी कारोबार किया जा सकता है।

वायदा बाजार केवल कुछ प्रमुख मुद्राओं की पेशकश करता है, जबकि सीएफडी वैश्विक मुद्राओं की एक विस्तृत विविधता प्रदान करते हैं।

बेशक, जितने अधिक बाजार में आप व्यापार करते हैं, उतनी ही अधिक जानकारी आपको ध्यान में रखनी चाहिए, जैसे कि वायदा या सीएफडी में विभिन्न व्यापारिक घंटे।

व्यापार के लिए उपलब्ध सभी वायदा बाजार में अलग-अलग उद्घाटन और समापन समय होते हैं (हालांकि कुछ समान हैं)। कुछ दिन के बीच में एक घंटे के लिए भी बंद होते हैं, प्रत्येक बाजार के लिए अलग-अलग घंटे होते हैं।

• उदाहरण के लिए, सोने का वायदा कारोबार घंटे हैं: रविवार - शुक्रवार शाम 5:00 बजे से शाम 4:15 बजे (मध्य यूरोपीय समय), प्रतिदिन शाम 4:15 बजे से 45 मिनट में विराम के साथ।

• और बिटकॉइन वायदा कारोबार CME ग्लोबेक्स एक्सचेंज में शाम 5:00 बजे - शाम 4:00 बजे होता है (मध्य यूरोपीय समय), रविवार से शुक्रवार तक।

Cryptocurrency CFD trading

DAX30 पर investing in futures

हमने पहले DAX30 का उल्लेख किया है। आइये इसको थोड़ा और देखते हैं। DAX 30 स्टॉक सूचकांक एक जर्मन सूचकांक है जो दुनिया भरके शुरुआती सीएफडी ट्रेडर्स का पसंदिता एक्सचेंज है। यहाँ € 0.10 से सीऍफ़डी अनुबंध में ट्रेडिंग किया जा सकता है, जो छोटे खातों को थोड़ी पूंजी के साथ सट्टा लगाने का अवसर देता है।

डैक्स सीऍफ़डी में अधिक अस्थिरता का प्रतिनिधित्व करता है, लेकिन साथ ही साथ उच्च लागत पर भी। यह विशेषज्ञों को इस प्रकार के व्युत्पन्न उत्पाद के पक्ष में प्रोत्साहित करता है, जिसमें अधिक पूंजी उपलब्ध है।

DAX 30 के बारे में और भी विस्तार से जानने के लिए हमारे DAX 30 पर सीएफडी का ट्रेडिंग: एक शुरुआती गाइड लेख पड़ें!

तेल पर trading in futures

कच्चा तेल में अनुबंध सबसे लोकप्रिय अनुबंधों में से एक है। सीएफडी के माध्यम से इस कच्चे माल की कीमत का व्यापार करना संभव है, जो एक बार फिर से छोटी पूंजी के साथ व्यापार करने की अनुमति देता है और विशेष रूप से प्रत्येक स्थान के प्रवेश और निकास पर कमीशन के बिना।

H2: Investing in futures for beginners - कुछ रणनीतियाँ

सीएफडी या वायदा के साथ व्यापार बहुत समान है। हालांकि, वायदा के मामले में परिचालन की समाप्ति तिथि, साथ ही जोखिम प्रबंधन और अनुबंध के आकार के बारे में अधिक जानना महत्वपूर्ण है। दूसरी ओर, वायदा और सीएफडी ट्रेडिंग में एक रणनीति विकसित करने की प्रक्रिया समान है।

Futures trading रणनीतियों के साथ शुरू करने पर विचार करने के लिए हम प्रमुख पहलुओं को देखेंगे:

• आपको किस शैली की ट्रेडिंग करनी चाहिए? आपके पास शैलियों की एक विस्तृत विविधता है जिससे आप चुन सकते हैं। क्या आप इंट्राडे व्यापारी बनने जा रहे हैं? क्या आप प्रसार या विकल्पों के साथ व्यापार करना पसंद करते हैं? एक ठोस योजना बनाने के लिए एक स्पष्ट योजना का होना आवश्यक है जिसमें से काम करना है।

• कौन से बाजार संचालित होते हैं? तेल या वस्तुओं? यह मत भूलें कि प्रत्येक वायदा अनुबंध में विभिन्न आकार और न्यूनतम मात्रा में व्यापार करने में सक्षम है। छोटे खातों वाले व्यापारियों के पास सीएफडी के बजाय वायदा कारोबार के लिए उपयुक्त बाजार खोजने में कठिन समय हो सकता है।

• किस रणनीति का उपयोग करना है? आपकी ट्रेडिंग रणनीति, संचालन के प्रवेश और निकास के मापदंडों को परिभाषित करने में मदद करेगी। हो सकता है कि आप निर्णय लेने में मदद करने के लिए व्यापारिक संकेतक या मूल्य कार्रवाई पैटर्न का उपयोग करें। मुख्य भाग आपके उपकरणों के अनुरूप रहने की कोशिश कर रहा है ताकि आप भविष्य की सफलता प्राप्त करने के लिए एक ठोस नींव का निर्माण शुरू कर सकें।

सही शैली खोजने के अलावा, बाजार और रणनीति भी सबसे अच्छा वायदा और सीएफडी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म खोजने में महत्वपूर्ण कारक हैं, सबसे पूर्ण वे हैं जो दोनों उत्पादों की पेशकश करते हैं।

Investing in futures बनाम सीएफडी बनाम ऑप्शंस

अब जबकि हमने सीएफडी के साथ सीएफडी फ्यूचर्स ट्रेडिंग के पेशेवरों और विपक्ष की तुलना की है, तो आइए ऑप्शंस के व्यापार के लाभों पर एक नज़र डालें।

लेकिन पहले यह जानना ज़रूरी है के एक ऑप्शन क्या है?

ऑप्शंस एक वित्तीय साधन है जो आपको उस अंतर्निहित राशि की एक निश्चित राशि खरीदने या बेचने का अवसर देता है, जिस पर वह पूर्वनिर्धारित मूल्य पर और एक निश्चित तिथि (या पहले) पर आधारित होता है। दो प्रकार के विकल्प हैं:

• खरीद विकल्प (कॉल)

• बेचने का विकल्प (पुट)

एक ऑप्शन जो "प्रीमियम" नामक मूल्य पर प्राप्त किया जाता है, वह विकल्प प्राप्त करने की लागत है।

यदि आपको लगता है कि किसी अंतर्निहित मूल्य में वृद्धि होगी, तो यह कॉल विकल्प का उपयोग करने के लायक हो सकता है। इसलिए यदि कीमत बढ़ जाती है, तो अपने कॉल विकल्प का उपयोग करके, आप इसे अपने वर्तमान मूल्य से कम कीमत पर खरीद सकते हैं और लाभ कमा सकते हैं।

दूसरी ओर, यदि कीमत कम हो जाती है, तो आप केवल उस मूल्य को खो देंगे जो आपको अपने खरीद विकल्प को प्राप्त करने के लिए भुगतान करना था।

ऑप्शंस ट्रेडिंग के लाभ: ऑप्शंस आपको अधिक लचीलापन दे सकते हैं। यदि बाजार अपेक्षित दिशा में जा रहा है तो आप खरीदने या बेचने के अपने अधिकार का प्रयोग कर सकते हैं।

अन्यथा, आप अपने ऑप्शंस को वापस ले सकते हैं और व्यायाम नहीं कर सकते हैं और आप केवल विकल्प प्राप्त करने के लिए मूल रूप से भुगतान किए गए प्रीमियम को खो देंगे।

ऑप्शंस ट्रेडिंग का नुकसान: ऑप्शंस आपको दायित्व के बिना खरीदने या बेचने की क्षमता के साथ कुछ सुरक्षा प्रदान करते हैं।

लेकिन यह याद रखना चाहिए कि इन सभी अनुबंधों की समाप्ति तिथि है, जो समय के साथ उनके उपयोग को सीमित करता है और इसलिए, संभावित कमाई दता है। वास्तव में, यदि आपका विकल्प केवल 24 घंटों के लिए वैध है, तो आपको चयन करना होगा, लेकिन आपको इसे शेष घंटों में करना होगा और बाद में नहीं।

एडमिरल मार्केट्स के साथ futures trading

यह सच है कि सीएफडी और फ्यूचर्स के बीच ध्यान केंद्रित करने के लिए संभावित पदों की संख्या में बदलाव हो रहा है। वास्तव में, यदि आप फ्यूचर बाज़ारों में काम करना चाहते हैं, तो गुणवत्ता का चयन करना मात्रा का चयन करने से अधिक महत्वपूर्ण है, क्योंकि प्रत्येक लेनदेन में यह शुल्क लागू होता है।

फुचुरस, सीऍफ़डी और ऑप्शंस समझने के लिए जटिल उत्पाद हैं, और इनमे ट्रेडिंग करने से थोड़ासा अभ्यास करना फायदेमंद हो सकता है। इसी लिए हम पहले एक डेमो ट्रेडिंग खाते में अभ्यास करने की सलाह देते हैं, जहाँ आप आभासी धन से जोखिम मुक्त व्यापर कर सकते हैं।

आप ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध सभी फुचुरस उपकरणों को डेमो अकाउंट के साथ अभ्यास कर सकते हैं। इस तरह आप अपने धन को जोखिम में डाले बिना आपका futures trading basics ज्ञान को बाजार में आज़मां सकते हैं। डेमो अकाउंट खोलने के लिए बस नीचे दिए गए बैनर पर क्लिक करें!

Demo trading

अगर आप ट्रेडिंग के बारे में और विस्तार से जानना चाहते हैं, तो यह लेख पड़ें:

Economic calendar के साथ शेयर बाजार में निवेश कैसे करें

नए stock market crash दृष्टि में, क्या हम एक नए वित्तीय संकट की ओर जा रहे हैं?

Recession meaning क्या है और आप कैसे एक मंदी के लिए तैयार रह सकते है?

एडमिरल मार्केट्स एक विश्व स्तर पर विनियमित विदेशी मुद्रा और सीएफडी ब्रोकर जो बहु-पुरस्कार का विजेता है। बहुत सारे उपकारणों के इलावा एडमिरल मार्केट्स के वेबसाइ में कई सरे शिक्षा सम्बंधित लेखे है जहाँ से आपको फोरेक्स, शेयर मार्किट, निवेश और भी बहुत कुछ के बारे मेतथ्य मिलेगा। दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से ८,००० से अधिक वित्तीय साधनों पर व्यापार की पेशकश करते हैं: मेटा ट्रेडर ४ और मेटा ट्रेडर ५ ।आज ही ट्रेडिंग शुरू करें!

इस लेख में वित्तीय उपकरणों में किसी भी लेनदेन के लिए निवेश सलाह, निवेश सिफारिशों सामग्री में शामिल नहीं है और यह प्रस्ताव या सिफारिश युक्त के रूप में नहीं होना चाहिए। कृपया ध्यान दें कि इस तरह का ट्रेडिंग विश्लेषण किसी भी वर्तमान या भविष्य के प्रदर्शन के लिए एक विश्वसनीय संकेतक नहीं है, क्योंकि समय के साथ परिस्थितियां बदल सकती हैं। किसी भी निवेश निर्णय लेने से पहले, आपको इस विषय से सम्बंधित जोखिमों को समझने के लिए स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों से सलाह लेनी चाहिए।


CFD जटिल इंस्ट्रूमेंट हैं और इनमें लीवरेज की वजह से तेजी से फंड का नुकसान होने का उच्च जोखिम होता है।