हम आपको अपनी वेबसाइट पर यथासंभव सबसे अच्छा अनुभव देने के लिए कुकीज़ का इस्तेमाल करते हैं। इस साइट को ब्राउज करना जारी रख कर, आप कुकीज का इस्तेमाल किए जाने की सहमति देते हैं। अपनी वरीयताओं को संसोधित करने के तरीके सहित, अधिक विवरण के लिए, कृपया यह दस्तावेज पढ़ें - गोपनीयता नीति।
अधिक जानकारी स्वीकार करें

Stock Trading For Beginners - एक संक्षिप्त गाइड

नवंबर 09, 2020 08:25 UTC
Reading time: 20 मिनट

Share market tutorial in Hindi

क्या आप शेयर कैसे खरीदते है जानना चाहते हैं?

आप अकेले नहीं हैं। दुनिया में बहुत लोग हैं जो इस आकर्षक दुनिया में रुचि रखते हैं, पर यह नहीं जानते के शुरुवात कहाँ से करें।

यह लेख हमने आप ही के लिए बनाया है। इस लेख में हम आपको एक share market tutorial in Hindi देंगे।

पढ़ते रहें!

विषय सूची:

  1. शेयर बाजार में शुरुआत कैसे करें?
  2. शेयर बाजार क्या है?
  3. बाजार प्रतिभागियां
  4. शेयर बाजार में पैसा कहां से आता है?
  5. Investing in the stock market for beginners कैसे सीखें
  6. शेयर ट्रेडिंग में पैसा कैसे कमाएं
  7. कौनसे स्टॉक खरीदना चाहिए?
  8. शेयर बाजार में कितना पैसा से निवेश शुरू करना चाहिए?
  9. शेयर बाजार में ऑर्डर के प्रकार
  10. विविधीकरण का महत्व
  11. एक सही ब्रोकर चुनने का आवश्यकता
  12. ट्रेडिंग कैसे शुरू करें?
  13. निष्कर्ष


▶️ शेयर बाजार में शुरुआत कैसे करें? - Stock Trading For Beginners

गूगल और अन्य खोज इंजनों में "स्टॉक मार्केट में पैसा कैसे बनाया जाए" वाक्यांश अत्यधिक खोजा जाता है। इससे पता चलता है कि कई लोग हैं जो शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं। यदि आप शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं तो आपको 3 बातें पता होनी चाहिए:

1️⃣ शेयर बाजार एक जोखिम पूर्ण बाजार है। यहाँ आप पैसा कमा सकते हैं, और पैसा खो भी सकते हैं।

2️⃣ Investing in the stock market के लिए कोई चमत्कार विधि नहीं है।

3️⃣ How to invest in share market in hindi के लिए बाज़ारों के घंटे जानना बहुत ज़रूरी है।

शेयर बाजार पर किसी भी गारंटीकृत सलाह से सावधान रहें, क्योंकि यह हो ही नहीं सकता। ट्रेडिंग सिग्नल प्रदाता, स्वचालित व्यापार, संदर्भ व्यापारी - इन सबसे सावधान रहें। यह संभावित घोटाले हो सकते हैं।

ट्रेडिंग शुरू करें

▶️ शेयर बाजार क्या है? - How To Invest In Share Market In Hindi

Investing in the stock market for beginners के लिए सीखने का पहला कदम यह जानना है कि शेयर बाजार क्या है।

शेयर बाजार एक ऐसा वित्तीय बाजार है जिसमें वित्तीय साधनों का व्यापार किया जाता है: स्टॉक, मुद्राएं, बॉन्ड, आदि। यह बाजार, किसी भी अन्य बाजार की तरह, आपूर्ति और मांग के कानून पर आधारित है: यदि कोई शेयर उच्च मांग में है, तो इसकी कीमत बढ़ जाती है। क्योंकि बाजार में कई खरीदार हैं। यदि स्टॉक गिरता है, तो खरीदारों की तुलना में बाजार में अधिक विक्रेता हैं।

शेयर बाजार कंपनियों को अपनी पूंजी के शेयरों को बेचकर खुद के लिए वित्त जुगाड़ करने की अनुमति देता है। दूसरी ओर, यही शेयर निवेशकों को किसी कंपनी की पूंजी का हिस्सा बनने की अनुमति देता है।

एक शेयर धारक के पास दो अधिकार होता है:

➡️ यदि कंपनी कोई भुगतान करती है तो लाभांश प्राप्त करने का अधिकार

➡️ जनरल मीटिंग्स में भाग लेना और वोट देने का अधिकार

पारंपरिक शेयर बाजार के इलावा भी दुनिया में बहुत सारे वित्तीय बाजार हैं जैसे के तेल और सोने जैसे वस्तुओं के लिए कमोडिटी बाजार, सूचकांक बाजार - जहाँ S & P 500 और DAX 30 जैसे सूचकांक की ट्रेडिंग होती है, यूरो डॉलर या ब्रिटिश पाउंड जैसे मुद्राओं के लिए मुद्रा बाजार और डेरिवेटिव बाजार जहाँ कॉन्ट्रैक्ट फॉर डिफरेंस (सीएफडी), फ्यूचर्स, ऑप्शंस का ट्रेडिंग होता है।

अब जब हम जानते हैं कि शेयर बाजार क्या है, तो दूसरे चरण पर जाएं, बाजार के भागीदार कौन हैं?

▶️ बाजार प्रतिभागियां - Stock Market Trading For Beginners

शेयर बाजार लोगों को निवेश करने की अनुमति देता है, जिससे वे खरीदी गई प्रतिभूतियों में वृद्धि से पैसा बनाने की उम्मीद करते हैं।

व्यक्तियों के अलावा, शेयर बाजार में सबसे महत्वपूर्ण भागीदार म्युचुअल फंड, निवेश बैंक, गारंटी फंड, बीमा कंपनियां और राज्य और पेंशन फंड हैं।

शेयर बाजार में हम 2 प्रकार के प्रतिभागियों को अलग कर सकते हैं:

☑️ शेयर बाजार में खरीदार

ट्रेडिंग का लक्ष्य एक शेयर को उच्चतर पर बेचने की उम्मीद में खरीदना है। उदाहरण के लिए: यदि शेयर बाजार पर एक एप्पल शेयर की कीमत USD ११४ है, तो वह इसे केवल तभी खरीदेंगे जब उन्हें लगेगा कि इसकी कीमत और अधिक बढ़ सकती है।

☑️ स्टॉक मार्केट में विक्रेता

उसी समय, एक विक्रेता एक व्यक्ति या संस्था है जो एक शेयर को बेचता है क्योंकि उनका यह मानता है कि इसकी कीमत घट जाएगी। उदाहरण के लिए: यदि शेयर बाजार पर एक एप्पल शेयर की कीमत USD ११४ है, तो वह इसे केवल तभी बेचेंगे जब उन्हें लगेगा कि शेयर की कीमत गिर जाएगी।

एक अन्य तरीके से भी हम स्टॉक और वित्तीय बाजार के प्रतिभागियों के वर्गीकरण कर सकते हैं:

शेयर बाजार में संस्थागत निवेशक

वित्तीय बाजारों में संस्थागत निवेशक मुख्य खिलाड़ी हैं। वे वित्तीय परिसंपत्तियों के विभिन्न वर्गों के संस्करणों के बहुमत के लिए जिम्मेदार हैं। इनमें आपको बीमा कंपनियां, एसेट मैनेजमेंट कंपनी, हेज फंड, निवेश बैंक या यहां तक कि रिटायरमेंट पेंशन फंड भी मिलेंगे।

शेयर बाजार में व्यक्तियों

व्यक्तियां शेयर बाजार में वित्तीय धन पैदा करने और अपनी बचत का हिस्सा अर्जित करने के लक्ष्य के साथ निवेश करते हैं, जो कि ज्यादातर दीर्घकालिक निवेश क्षितिज (कई वर्षों) को ध्यान में रखते हैं।

चूंकि स्टॉक मार्केट में ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग किया जा सकता है, इसलिए ट्रेडिंग के लिए शॉर्ट-टर्म प्रॉफिट को आकर्षित करने की प्रवृत्ति बढ़ रही है। सट्टा व्यापार के साथ शेयर बाजार में शुरुआत करना जोखिम भरा हो सकता है, भले ही यह संभावित रूप से अधिक आकर्षक क्यों न हो।

एक डेमो ट्रेडिंग खाता खोलें

▶️ शेयर बाजार में पैसा कहां से आता है? Stock Trading For Beginners

यह शेयर बाजार के शुरुआती लोगों के लिए बहुत अच्छा सवाल है। शेयर बाजार एक ऐसा खेल है जहां जब आप जीतते हैं तो किसी अन्य व्यक्ति / संस्था पैसा खो देता है।

यदि हम आज ३२४० USD की कीमत पर एक अमेज़न शेयर खरीदते हैं और कल कीमत ३२६० USD तक बढ़ जाती है, तो हम २० डॉलर कमा सकते हैं। दूसरी तरफ जो विक्रेता ३२४० USD में वही शेयर बेचे थें, वो मूल्य वृद्धि का लाभ नहीं ले पाएंगे और उनको २० डॉलर का संभावित नुकसान होगा।

आइए इसके विपरीत एक उदाहरण लेते हैं: यदि आप आज ३२६० USD की कीमत पर एक अमेज़न शेयर खरीदते हैं और कल उसकी कीमत ३२४० USD है, तो आपको २० डॉलर का नुकसान होगा और विक्रेता को २० डॉलर का संभावित लाभ।

☝️ ध्यान दें: शेयरों की शार्ट सेल करने के लिए, हमें शेयर के व्युत्पन्न में निवेश करने की आवश्यकता है। शेयरों पर सीएफडी के साथ, हम लाभ प्राप्त कर सकते हैं, भले ही अंतर्निहित की प्रवृत्ति, इस मामले में अमेज़न, नीचे की ओर है।

इस मामले में हम बेचने के लिए आगे बढ़ेंगे और तब जब कीमत और भी कम होगी, और हम प्राप्त परिणामों से संतुष्ट हैं, लाभ खरीदने और प्राप्त करेंगे।

शार्ट सेलिंग के बारे में और गहरायी से जानने के लिए आप हमारा लेख Short Selling क्या है - एक सम्पूर्ण गाइड पढ़ सकते हैं।

▶️ Investing In The Stock Market For Beginners कैसे सीखें

यदि आप शेयर बाजार में शुरुआत कर रहे हैं, तो शेयर बाजार में निवेश शुरू करने का एक सरल तरीका ऑनलाइन शेयर बाजार सिम्युलेटर का उपयोग करके शेयर बाजार का परीक्षण करना है। ऑनलाइन ब्रोकर काल्पनिक ट्रेडिंग सिमुलेटर की पेशकश करते हैं। ये आपको वास्तविक समय में शेयर की कीमतों के साथ वास्तविक बाजार की स्थितियों का परीक्षण करने की अनुमति देते हैं।

ट्रेडिंग सिम्युलेटर के इलावा आप stock trading for beginners in India के लिए बनायीं गयी पाठ्यक्रमों को देख सकते हैं और वहां से सिख सकते हैं। इंटरनेट पर, शेयर बाजार में निवेश, ऑनलाइन ट्रेडिंग और ट्रेडिंग प्रशिक्षण के बारे में जानकारी का खजाना है।

एडमिरल मार्केट एक विनियमित ब्रोकर है और हमारी वेबसाइट में कई सारे लेख है जो आपको ट्रेडिंग के विभिन्न पहलुओं को समझने में मदद कर सकता है। इसके इलावा आप हमारी मुफ्त ऑनलाइन प्रशिक्षण नौसिखिये से विशेषज्ञ में भी देख पंजीकरण कर सकते हैं। इसमें हमारे ट्रेडिंग शिक्षक आपको चरण-दर-चरण व्यापार करना सिखाएंगे।

Stock trading for beginners India के लिए सिद्धांत के साथ साथ अभ्यास महत्वपूर्ण है। एक डेमो खाता आपको ऑनलाइन स्टॉक मार्केट अवधारणाओं जैसे के शेयर ट्रेडिंग क्या है और शेयर कैसे खरीदते है समझने में मदद कर सकता है। आप एक डेमो खाता डाउनलोड कर सकते हैं।

डेमो खाता खोलें

▶️ शेयर ट्रेडिंग में पैसा कैसे कमाएं - Stock Trading For Beginners India

वित्तीय बाज़ारों में निवेश करने का सबका एक ही मकसद होता है - अपने पैसा लगाना और उसे बढ़ाना। शेयर बाजार में, आप निम्नलिखित तरीकों से पैसा कमा सकते हैं:

1️⃣ पूंजीगत लाभ: निवेशक एक ऐसा शेयर खरीदता है जिसमें ऊपर जाने की क्षमता होती है और फिर इस उम्मीद से निवेश को रखते हैं ता की समय के साथ उसकी कीमत बढ़ें। जब शेयर महंगा हो जाये तो वो उसे बेचकर अंतर को मुनाफा के रूप में अर्जित करते हैं।

2️⃣ आय पर कमाई: निवेशक आय शेयर खरीदता है, अर्थात्, वे शेयर जो नियमित रूप से लाभांश का भुगतान करते हैं। यह एक आवधिक क्षतिपूर्ति (आमतौर पर त्रैमासिक) है जो कंपनी अपने सभी शेयरधारकों को प्रदान करती है।

3️⃣ 1 और 2 का एक संयोजन: शेयर बाजार से लाभ को अधिकतम करने के लिए, बाजार के कुछ निवेशक शेयर खरीदते हैं ता की वो लाभांश कमाएं और फिर बाद में बेचके मुनाफा भी कमाएं।

4️⃣ शार्ट सेल: शार्ट सेल एक ऐसी प्रक्रिया है जहाँ पहले एक शेयर को बेचा जाता है, जो निवेशक के पास है ही नहीं, इस उम्मीद से की बाद में उसकी कीमत घट जाएगी। निवेशक गिरती कीमतों से आय अर्जित करता है, लेकिन लाभांश प्राप्त नहीं करता है। यह एक जटिल प्रक्रिया है और online stock trading for beginners के लिए सिफारिश नहीं की जाती है।

5️⃣ डेरिवेटिव्स पर अटकलें: stock trading & investing for beginners कभी-कभी शेयर बाजार पर सट्टा लगाने के लिए डेरिवेटिव की ओर रुख करते हैं। ये साधन हैं (सीएफडी, वायदा, विकल्प आदि) जो आपको कम अवधि में और उत्तोलन के साथ मूल्य के बढ़ने या गिरने पर शर्त लगाने की अनुमति देते हैं। शार्ट सेल की तरह हम किसी शुरुवाती ट्रेडर के लिए इसकी सलाह नहीं देते हैं।

Online stock trading for beginners करने से पहले इसका विचार करना पड़ता है कि किस निवेश पद्धति को चुनना है। यह निवेश क्षितिज और ग्रहण किए गए जोखिम पर निर्भर करता है।

ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग में मौजूद उपकरण और संकेतक निवेश और अटकलों को आसान बनाता है। नौसिखिया व्यापारी अधिक कमाने की कोशिश करके अधिक जोखिम लेने का विकल्प चुनता है, जबकि दीर्घकालिक निवेशक कम जोखिम लेता है लेकिन अपनी संभावित कमाई को भी सीमित करता है।

किसी भी मामले में, शेयर बाजार में निवेश करना सीखना और शेयर बाजार को समझने के लिए समय निकालना एक परम आवश्यक है।

▶️ कौनसे स्टॉक खरीदना चाहिए? Share Market Tutorial In Hindi

एक बार जब आप साइन अप कर लेते हैं और आपका ट्रेडिंग खाता स्वीकृत हो जाता है, तो स्टॉक चयन प्रक्रिया शुरू हो जाती है। डेटा की मात्रा और शेयरों की वास्तविक समय की गतिविधियां आपको पहले ही प्रभावित कर सकती हैं। हम आपको सबसे पहले सलाह देते हैं कि आप कम संख्या में कार्यों पर ध्यान दें, जिनके साथ आप सबसे ज्यादा परिचित हैं।

सभी समय के सबसे बड़े निवेशकों में से एक, वॉरेन बफेट ने एक बार कहा था, "आप किसी कंपनी में स्टॉक खरीदते हैं क्योंकि आप चाहते हैं कि वह आपका हो, न कि इसलिए कि आप चाहते हैं कि स्टॉक ऊपर जाए।"

कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट के अलावा, शेयरधारकों को कंपनी प्रबंधन का वार्षिक पत्र इस बात का एक सभ्य अवलोकन प्रदान कर सकता है कि कंपनी कैसा प्रदर्शन कर रही है और उसकी भविष्य की योजनाएं क्या हैं।

आपके द्वारा मूल्यांकन किए जाने वाले विश्लेषणात्मक उपकरण आपके ब्रोकर की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे, जैसे हालिया समाचार, सम्मेलन, त्रैमासिक आय अद्यतन और नियामकों द्वारा लगाए गए किसी भी नियम।

कई ब्रोकर अपने टूल का उपयोग करने और स्टॉक का चयन करने के तरीके पर लेख और ट्यूटोरियल या सेमिनार भी प्रदान करते हैं।

२०२० में कौनसे शेयर खरीदना फायदेमंद होंगे जानने के लिए आप हमारी लेख 2020 के लिए best stocks to buy पढ़ सकते हैं।

एडमिरल मार्केट्स हफ्ते में तीनबार मुफ्त में वेबिनार का आयोजन करते हैं जहाँ पेशेवर व्यापारी ट्रेडिंग के विभिन्न पेहलुयों के बारे में चर्चा करते हैं। अगर आप इन वेबिनार में योगदान करने में उत्सुक हैं, तो नीचे बटन दबाके पंजीकरण करें। यह मुफ्त है।

वेबिनार में पंजीकरण करें

▶️ शेयर बाजार में कितना पैसा से निवेश शुरू करना चाहिए? How To Trade In Share Market In Hindi

आपको छोटी मात्रा में खरीद और निवेश शुरू करना चाहिए। इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि आप कितना जोखिम ले सकते हैं, और कितना नुकसान उठा सकते हैं।

तनाव न लें। धीरे धीरे जब आप अधिक निवेश के साथ सहज हो जाएं, अपने अपना निवेश आकर बढ़ा सकते हैं।

▶️ शेयर बाजार में ऑर्डर के प्रकार - Investing In The Stock Market

आइये अब how to invest money in share market in hindi का एक बहुत ही महत्वपूर्ण पहलु को देखें - शेयर बाजार में आदेश के प्रकार।

☑️ मार्किट आर्डर

एक मार्किट आर्डर (बाजार आदेश) दर्ज करके, आप अगले सर्वोत्तम उपलब्ध बाजार मूल्य पर शेयर खरीद या बेच सकते हैं। चूंकि मार्किट आर्डर किसी भी मूल्य मापदंडों को निर्धारित नहीं करता है, आपके आदेश को तुरंत निष्पादित किया जाएगा।

मार्किट आर्डर के साथ, आप जो मूल्य अदा करते हैं या प्राप्त करते हैं, वह वही कीमत नहीं हो सकती है जो आपको कुछ सेकंड पहले उद्धृत की गई थी; ऐसा इसलिए है क्योंकि शेयर के भाव पूरे दिन लगातार उतार-चढ़ाव होता है।

मार्किट आर्डर का इस्तेमाल उन शेयरों को खरीदने या बेचने के लिए किया जाता है जो दिन के दौरान बड़ी कीमत के झूलों का अनुभव नहीं करते हैं। उदाहरण के लिए, ब्लू चिप कंपनियों के शेयर।

Market order - how to start share trading for beginners

एडमिरल मार्केट्स मेटा ट्रेडर 5 ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर एक मार्किट आर्डर का उदाहरण।

अस्वीकरण: इस लेख में वित्तीय साधनों के लिए चित्रण उद्देश्यों के लिए हैं और एडमिरल मार्केट्स (सीएफडी, ईटीएफ, शेयर) द्वारा प्रदान किए गए किसी भी वित्तीय उपकरण को खरीदने या बेचने के लिए व्यापारिक सलाह या आग्रह नहीं करते हैं। जरूरी नहीं कि पिछला प्रदर्शन भविष्य के प्रदर्शन का संकेत हो।

मार्किट आर्डर इस्तेमाल के के टिप्स:

• मार्केट-ऑर्डर शेयर खरीदने और रखने के लिए सबसे अच्छा है, जहां वे छोटे मूल्य अंतर के बारे में परवाह नहीं करते हैं, बल्कि इस बात पे ध्यान देते हैं की व्यापार पूरी तरह से निष्पादित हो जाये।

• दिन के बंद करीब एक मार्केट ऑर्डर रखें। अगले दिन एक्सचेंजों के खुलने पर आपका ऑर्डर मार्किट प्राइस पर सक्रिय हो जाएगा।

• अपने ब्रोकर के ऑर्डर के निष्पादन अस्वीकरण को सत्यापित करना एक अच्छा विचार है, कुछ कम लागत वाले ब्रोकर सभी ग्राहकों के बाजार ऑर्डर को एकसाथ निष्पादित करते हैं - या तो वर्तमान कीमत पर, या तो व्यापारिक दिन के अंत में।

☑️ पेंडिंग आर्डर

यदि आप व्यापार की कीमत पर अधिक नियंत्रण पसंद करते हैं, तो पेंडिंग आर्डर (लंबित आदेशों) का उपयोग करना बेहतर है। यहाँ आप एक मान दे सकते हैं, जिस मूल्य में आप एक शेयर खरीदना चाहते हैं। इसे लिमिट आर्डर (सीमा आदेशों) भी कहा जाता हैं क्यूंकि इस तरह के आदेश में दो सीमायें हो सकते हैं:

खरीद सीमा/ बाई लिमिट : मान लीजिए कि एप्पल $ 100 प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा है, लेकिन आपको लगता है कि आप इसे $ 95 प्रति शेयर में खरीदना चाहते हैं। तो आप $ 95 में एप्पल खरीदने के लिए एक लंबित आदेश दे सकते हैं। फिर आपको इंतजार करना होगा की कब कीमत उस स्तर तक जाये और आपका आदेश निष्पादित हो।

बेचने की सीमा/ सेल लिमिट - जब ऊपर दिए गए प्रक्रिया को आप खरीदने के बजाये शेयर बेचने के लिए इस्तेमाल करते हैं, तो उस सीमा को बेचने की सीमा कहा जाता है।

Pending order - how to invest money in share market in hindi

एडमिरल मार्केट्स मेटा ट्रेडर 5 ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर एक पेंडिंग आर्डर का उदाहरण।

अस्वीकरण: इस लेख में वित्तीय साधनों के लिए चित्रण उद्देश्यों के लिए हैं और एडमिरल मार्केट्स (सीएफडी, ईटीएफ, शेयर) द्वारा प्रदान किए गए किसी भी वित्तीय उपकरण को खरीदने या बेचने के लिए व्यापारिक सलाह या आग्रह नहीं करते हैं। जरूरी नहीं कि पिछला प्रदर्शन भविष्य के प्रदर्शन का संकेत हो।

निवेशक के गतिविधि के आधार पर, छोटे कंपनी के शेयरों को खरीदने और बेचने के लिए निवेशक के लिए लंबित आदेश अच्छा हो सकते हैं, क्योंकि निवेशक गतिविधि पर नियंत्रण कर सकते हैं।

यह अल्पकालिक स्टॉक मार्केट की अस्थिरता के दौरान भी उपयोगी है, या जब सही मूल्य में शेयर खरीदना अधिक महत्वपूर्ण होता है।

पेंडिंग आर्डर को कुछ अतिरिक्त शर्तें जो प्रभावित करती हैं:

AON - एक 'AON' ( आल और नॉन / सभी या कोई नहीं) आदेश केवल तभी निष्पादित किया जाएगा जब आप जिन शेयरों को व्यापार करना चाहते हैं, वे उनके पूर्व निर्धारित मूल्य सीमा पर उपलब्ध हैं।

GFD - एक 'GFD' (गुड फॉर द डे/ एक दिन के लिए वैध) आदेश आमतौर पर कारोबारी दिन के अंत में समाप्त हो जाएगा, भले ही ऑर्डर पूरा नहीं हुआ हो।

GTC: एक 'GTC' (गुड टिल कैंसिल्ड/ रद्द करने तक वैध) आदेश तब तक चलता रहेगा जब तक कि व्यापारी इसे रद्द नहीं करता, या ऑर्डर समाप्त नहीं हो जाता।

लंबित आदेश की गारंटी है कि एक शुरुआती व्यापारी को वह मूल्य मिलेगा जो वे चाहते हैं।

▶️ विविधीकरण का महत्व - How To Trade In Share Market In Hindi

चाहे आप शेयर बाजार में शुरुआती हैं या विशेषज्ञ, यह जान लें कि आप बाज़ारों के मंदी के दौर से नहीं बच सकते। हालांकि, आप जो बचा सकते हैं वह एक अविभाजित निवेश पोर्टफोलियो द्वारा प्रस्तुत महत्वपूर्ण जोखिम है।

विविधीकरण एक वैश्विक निवेश को विशिष्ट बाजारों में अपरिहार्य असफलताओं से बचाने में मदद करता है। यदि आप अपना सारा पैसा शेयर बाजार में एक ही शेयर में निवेश करते हैं, तो आप एक ही कंपनी के सफलता पर शर्त लगा रहे हैं। लेकिन उस कंपनी की विशिष्ट समस्याएं (विनियमन, खराब नेतृत्व या उदाहरण के लिए एक घोटाला) हो सकती है, जिस खतरे का प्रभाव सीधा आपके निवेश में पड़ेगा।

किसी विशेष कंपनी या परिसंपत्ति के लिए इस विशिष्ट जोखिम को कम करने के लिए, निवेशक विभिन्न प्रकार के शेयरों और बाजारों में अपना पैसा लगाकर विविधता लाते हैं। एक विशिष्ट बाजार में किसी भी नुकसान अन्य बाजारों में लाभ से पूरा होता है।

हालांकि, विविध वित्तीय निवेश के निर्माण में बहुत समय, धैर्य और अनुसंधान लगता है। एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या ईटीएफ, एक विकल्प प्रदान करते हैं जिसमें निवेश की एक टोकरी होती है, इसलिए यह स्वचालित रूप से विविध है।

▶️ एक सही ब्रोकर चुनने का आवश्यकता - Trading In Stock Market For Beginners

Stock market trading for beginners India शुरू करने के लिए एक अच्छा ऑनलाइन ब्रोकर चुनना शायद सबसे महत्वपूर्ण मानदंड है। एक भरोसेमंद ब्रोकर आपको कई सारे सुविधाएं प्रदान करेगा और मन की शांति भी की आपका पैसा सुरक्षित है।

एक अच्छा ऑनलाइन ब्रोकर चुनने के लिए कुछ मापदंड हमने नीचे दिए हैं:

➡️ विनियमित ब्रोकर: हमेशा एक विनियमित ब्रोकर के साथ ही खाता खोलें। एडमिरल मार्केटस एक सम्पूर्ण विनियमित ब्रोकर है।

➡️ ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म: प्लेटफ़ॉर्म में वो सभी सुविधाएं होनी चाहिए जो आपको ट्रेडिंग के समय आवश्यक हो। एडमिरल मार्केट्स के साथ आपको दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफार्म मेटाट्रेडर 4 और मेटा ट्रेडर 5 मिलता है, बिलकुल मुफ्त में।

➡️ स्प्रेड और आर्डर निष्पादन - एक ऐसा दलाल चुनें जो सबसे कम स्प्रेड और सबसे अच्छा ऑर्डर निष्पादन प्रदान करता हो।

➡️ विभिन्न प्रकार के खाते - एक अच्छा दलाल आपको कई प्रकार के खाते प्रदान करेगा। एडमिरल मार्केट्स अपने ग्राहकों को कई सारे खातों का विकल्प देते हैं।

➡️ उत्तोलन - आपके पास उत्तोलन के साथ व्यापार करने का अवसर होनी चाहिए। मगर सावधान रहें, उत्तोलन में जोखिम होता है।

➡️ प्रस्तावित बाजार: एक ही समय में कई बाजारों में निवेश करने में सक्षम होना हमेशा दिलचस्प होता है। एक ऐसा ब्रोकर के साथ व्यापार करें जो अपने ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर कई बाजारें प्रदान करता है।

➡️ ग्राहक सेवा: हिंदी और अंग्रेजी में ग्राहक सेवा के साथ एक ब्रोकर होना अधिक सुविधाजनक है।

▶️ ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? Stock Trading & Investing For Beginners

एडमिरल मार्केट्स के साथ ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको बस ५ कदम उठाना पड़ेगा:

१. एक ट्रेडिंग खाता खोलें

२. अपने कार्यों का चयन करें

३. मजबूत दीर्घकालिक विकास संभावनाओं वाली कंपनियों की तलाश करें।

४. यह तय करें कि आप कितने शेयर खरीदना चाहते हैं। इसे अपने बजट और वांछित आवंटन के आधार पर लें

५. ऑर्डर का प्रकार चुनें। "मार्केट" या "पेंडिंग" का उपयोग करें।

▶️ निष्कर्ष - Stock Market Trading For Beginners India

Stock trading for beginners in India के लिए हमारी पहली सलाह यह है कि पहले आप स्टॉक मार्केट के बारे में प्रशिक्षण लें और एक आभासी वातावरण में ट्रेडिंग का अभ्यास करें। यानी डेमो खाता खोलके आप अपनी रणनीतियों और ज्ञान की परीक्षण करें अपने धन को जोखिम में डाले बिना।

आभासी स्टॉक मार्केट में प्रशिक्षित और अनुभवी होने के बाद, आप एक ट्रेडिंग योजना विकसित करें और उसका पालन करें।

एक अच्छी ट्रेडिंग योजना में शामिल होनी चाहिए:

1. आपका निवेशक प्रोफाइल - मध्यम, जोखिम भरा, या रूढ़िवादी।

2. उन संपत्तियों या उपकरणों जिनमें आप निवेश करना चाहते हैं

3. आपके निवेश की समय सीमा। इस पर गौर करें के आप कितने समय के लिए पैसा ट्रेडिंग करना चाहते हैं।

4. जोखिम प्रबंधन विवरण - यानी प्रति ट्रेड में निवेश की गई पूंजी का कितना प्रतिशद जोखिम लेना चाहते हैं, स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट, आदि।

तो क्या आप एक डेमो खाता खोलके आभासी वातावरण में ट्रेडिंग के अनुभव प्राप्त करने के लिए तैयार हैं?

तो देर किस बात की! बस नीचे बटन दबाएं और आज ही डेमो खाता खोलें, यह मुफ्त है!

Forex demo account

ट्रेडिंग के सम्बन्ध में और भी अधिक जानना चाहते हैं? हम आपको यह तीन लेख पड़ने का सलाह देंगे:

Recession meaning क्या है और आप कैसे एक मंदी के लिए तैयार रह सकते है?

News Based Trading Strategies India

How To Invest In US Stock Market From India

एडमिरल मार्केट्स एक विश्व स्तर पर विनियमित विदेशी मुद्रा और सीएफडी ब्रोकर जो बहु-पुरस्कार का विजेता है। बहुत सारे उपकारणों के इलावा एडमिरल मार्केट्स के वेबसाइ में कई सरे शिक्षा सम्बंधित लेखे है जहाँ से आपको फोरेक्स, शेयर मार्किट, निवेश और भी बहुत कुछ के बारे मेतथ्य मिलेगा। दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से ८,००० से अधिक वित्तीय साधनों पर व्यापार की पेशकश करते हैं: मेटा ट्रेडर ४ और मेटा ट्रेडर ५ ।आज ही ट्रेडिंग शुरू करें!

इस लेख में वित्तीय उपकरणों में किसी भी लेनदेन के लिए निवेश सलाह, निवेश सिफारिशों सामग्री में शामिल नहीं है और यह प्रस्ताव या सिफारिश युक्त के रूप में नहीं होना चाहिए। कृपया ध्यान दें कि इस तरह का ट्रेडिंग विश्लेषण किसी भी वर्तमान या भविष्य के प्रदर्शन के लिए एक विश्वसनीय संकेतक नहीं है, क्योंकि समय के साथ परिस्थितियां बदल सकती हैं। किसी भी निवेश निर्णय लेने से पहले, आपको इस विषय से सम्बंधित जोखिमों को समझने के लिए स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों से सलाह लेनी चाहिए।

CFD जटिल इंस्ट्रूमेंट हैं और इनमें लीवरेज की वजह से तेजी से फंड का नुकसान होने का उच्च जोखिम होता है।